पासपोर्ट और वीज़ा में क्या फर्क होता है? - Difference Between Passport and Visa in Hindi

Passport Act, 1967 के अनुसार Passport एक Legal document है जिसे भारत सरकार द्वारा जारी किया जाता है और यह Certified करता है कि Holder Republic of India का नागरिक है

पासपोर्ट और वीज़ा में क्या फर्क होता है? - Difference Between Passport and Visa in Hindi

जब कभी भी हम अकेले या अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ अपने देश के अलावा दूसरे देश में घूमनेरहने या काम करने के लिए जाते हैं तो इसके लिए पासपोर्ट (Passport) और वीजा (Visa) का होना बहुत ही जरूरी है

Passport Act, 1967 के अनुसार Passport एक Legal document है जिसे भारत सरकार द्वारा जारी किया जाता है और यह Certified करता है कि Holder Republic of India का नागरिक है.

अपने देश के अलावा दूसरे देशों में घूमने के लिए पासपोर्ट (Passport) का होना बहुत ही ज्यादा जरूरी है  किसी भी व्यक्ति के लिए पासपोर्ट आइडेंटिटी प्रूफ की तरह कार्य करता हैजब किसी देश का नागरिक पासपोर्ट (Passport) के लिए आवेदन करता है तो उस देश की सरकार आवेदनकर्ता (applicant) के बारे में सारी जांच पड़ताल करने के बाद उसे पासपोर्ट (Passport) प्रोवाइड करती है

भारत में पासपोर्ट के प्रकार – Types of Passport in Hindi

Passport Act, 1967 के तहत भारत सरकार द्वारा मुख्य रूप से तीन प्रकार के Passports issue किये जाते हैं

1. Ordinary Passport: इस प्रकार का पासपोर्ट देश के सामान्य नागरिक के लिए जारी किया जाता है इस पासपोर्ट के कवर का रंग गहरा नीला होता है और इसमें pages की संख्या 36 या 60 होती है इस पासपोर्ट को "P-Type" पासपोर्ट भी कहा जाता है जहां “P” का अर्थ “Personal” होता है

2. Official passport: इस प्रकार का पासपोर्ट हमारे देश के उन सरकारी अधिकारियों के लिए जारी किया जाता है जो दूसरे देशों में Commercially हमारे देश को Represent करते हैं इस पासपोर्ट के कवर का रंग सफेद होता है और इसे “S-Type" पासपोर्ट भी कहा जाता है जहां “S” अर्थ “Service” होता है

3. Diplomatic Passport: इस प्रकार का पासपोर्ट Indian diplomats और High priority वाले सरकारी अधिकारियों के लिए जारी किया जाता है|  इस पासपोर्ट के कवर का रंग मैरून होता है इसे "D-Type" पासपोर्ट भी कहा जाता है जहां “D” का अर्थ "Diplomatic" होता है

वीजा क्या है- What is Visa?

VISA एक तरह से परमिशन लेटर होता जो की आपको ये परमिट देता है कि आप किसी दूसरे देश में रह सकते है लेकिन वो आपके VISA पर निर्भर करता है कि आप कितने दिन दूसरे देश में रह सकते है या उस देश में आप क्या कर सकते है. VISA के बहुत सारे टाइप होते है जो भी बताते है की कौन से काम के लिए कौन सा VISA लगेगा VISA की फुल फॉर्म है V= Visitors I= International S= Stay A= Admision .

  1. Transit Visa (ये VISA 72 घंटो के लिए ही Valid माना जाता है)
  2. Tourist Visa (दूसरे देश में घूमने जाने के लिए लिया जाता है)
  3. Business Visa (जो दूसरे देश में बिज़नस करना चाहते है)
  4. Student Visa (स्टूडेंट्स ही इसके लिए अप्लाई कर सकते है.)
  5. Working Visa (जो किसी दुसरे देश मे नौकरी करना चाहता है)
  6. Marriage Visa (दुसरे देश की लडकी से शादी )
  7. Immigrant Visa (किसी दुसरे देश मे बसना)
  8. Medical Visa (विदेश मे अपना इलाज कराना)

पासपोर्ट और वीजा में क्या अंतर होता है?

1.पासपोर्ट एक कानूनी दस्तावेज है जो किसी भी देश द्वारा उसके नागरिक को विदेशों में यात्रा करने के लिए और उस व्यक्ति के पहचान पत्र के रूप में दिया जाता है। जबकि वीजा एक तरह की अस्थाई आधिकारिक अनुमति (Temporary authorization) है जो किसी व्यक्ति को अपने देश के अलावा अन्य देश में घूमने, रहने या काम करने के लिए लेनी होती है।

2.पासपोर्ट एक छोटी डायरी जैसा दस्तावेज़ है। जबकि वीजा एक अधिकारिक मोहर है।

3.व्यक्ति के पास जिस देश की नागरिकता है उसी देश की सरकार पासपोर्ट ज़ारी करती है। जबकि जिस देश में व्यक्ति जाना चाहता है उस देश की सरकार वीजा ज़ारी करती है।

4.पासपोर्ट जारी करने का मकसद विदेश में यात्रा करते समय और अपने देश लौटते समय समय पहचान करना होता है। जबकि वीजा जारी करने का मकसद विदेश में प्रवेश करना और वहां अधिकारिक रूप से अस्थाई तौर पर रहना होता है।

5.वीजा को दूतावास Embassy के द्वारा जारी किया जाता है जबकि पासपोर्ट को Specific Government Department के द्वारा जारी किया जाता है।